Ayushi Murder:आयुषी यादव की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक, पहली गोली उनके दिमाग में लगी और दूसरी उनके सीने में लगी।

पिता नीतेश यादव ने अपनी इकलौती बेटी आयुषी यादव को लाइसेंसी पिस्टल से दो गोलियां मार दी।

उसकी पत्नी ब्रजबाला भी हत्या में शामिल थी। पुलिस ने दंपती को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया।

पुलिस ने युवती की कार, लाइसेंसी रिवॉल्वर और मोबाइल बरामद कर लिया है। वहीं, पुलिस को आयुषी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिल गई है।

हत्या इसलिए की गई ताकि मां और पिता को खबर किए बिना शादी कर ली जाए। करीब एक साल पहले युवती की शादी राजस्थान के भरतपुर निवासी छत्रपाल गुर्जर से हुई थी, जो उसके साथ आर्य समाज मंदिर में पढ़ता था।

वह उनसे छुप-छुप कर मिलती रही। यह वध इसलिए किया गया क्योंकि पीड़ितों ने रोकने के बाद भी मानने से इनकार कर दिया।

आयुषी ने दिल्ली के देहली ग्लोबल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीसीए की पढ़ाई की है।